मेरा नाम रिंकू है ! मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ ! मैं आपको तीन साल पुरानी अपनी सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ ! कृपा कर इसे पढें ! मेरा दावा है कि इस कहानी को पढ़ते समय भाइयों के लंड और भाभियों की चूत गीली हो जायेगी और यदि भाइयों के पास चूत का जुगाड़ है तो वो चूत मारने पर विवश हो जायेंगे यदि नहीं है तो मुठ मारेंगे ! लड़कियों और औरतों के पास लंड का जुगाड़ है तो वो चुदवाने पर विवश हो जाएँगी यदि नहीं है तो वो ऊँगली-मैथुन या अपनी चूत में बेंगन जैसी लम्बी चीज़ से मुठ मारेंगी ! मैं आपका ज्यादा समय बर्बाद न करके सीधा पॉइंट पर आता हूँ !

बात उन दिनों की है जब मैं ग्रैजुऐशन कर रहा था ! मेरे दूसरे साल के पेपर चल रहे थे ! हमारे घर में एक किरायेदार आया, जिसकी बीवी का नाम ममता था ! ममता दिखने में कुछ ज्यादा सुंदर नहीं थी पर उसके स्तन बहुत बड़े थे जो हमेशा ब्लाउज से बाहर आने की कोशिश करते थे ! ऐसा लगता था मानो अभी ब्लाउज से बाहर आ जायेंगे ! जिनको देख कर मेरा मन मचल उठा और उसकी गांड के तो क्या कहने !

जब वो चलती थी तो उसका एक कूल्हा आगे और एक कूल्हा पीछे होता था, जिसे देख कर मेरा लंड खंभे का रूप धारण कर लेता था ! उसे देख कर मेरा मन भटकने लगता और मेरा मन पढ़ाई में न लगता ! जब मैं उसे देखता, उसके बड़े स्तन और उठी हुई गांड का दृश्य मेरे सामने आने लगता और मैं उसके बारे में सोच कर मुठ मारता ! मुठ मारने के बाद मैं शांत हो जाता और पढ़ाई में मन लगाता लेकिन मन फिर भी नहीं लग पाता !

असली दिक्कत तो रात को होती थी जब ममता का पति आता था और रात को उसको चोदता था ! उसके चीखने की आवाज़ मेरे कमरे तक आती थी, क्योंकि मेरा कमरा उसके कमरे से चिपका था ! जब उसका पति उसे चोदता था तो वो सिसकियाँ लेती थी ! उसकी आवाजें मेरे कानों में गूंजती थी और मैं आँखों में उसकी तस्वीर ले आता और उसका नाम लेकर मुठ मारता था !

एक दिन ममता आंटी ने मुझसे कहा कि मैं उनके केबल कनेक्शन लगवा दूँ !

तो मैंने उनसे कहा,आंटी ! नए डिश कनेक्शन के लिए आपको २०० रुपये एडवांस केबल वाले को देने पड़ेंगे और १५० रुपये महीना देना होगा !

आंटी बोली,यह तो बहुत मंहगा है ?

मैने कहा, आंटी ! मैं अपने केबल कनेक्शन में से आपका केबल लगा देता हूँ !!

वो बोली, आप कितने पैसे लोगे ?

मैंने कहा,जो आपकी इच्छा हो, दे देना ..!

उसने कहा, लगा दो !